महिला वैज्ञानिक कार्यक्रम

विज्ञान में महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए स्थायी समिति [PDF]229.78 KB

KIRAN (Knowledge Involvement in Research Advancement through Nurturing) के तहत सभी कार्यक्रमों में प्रस्तावों के अनंतिम प्रस्तुतिकरण के लिए अधिसूचना

 
डीएसटी की योजना के तहत KIRAN (Knowledge Involvement in Research Advancement through Nurturing) योजना के तहत सभी कार्यक्रमों की समीक्षा की जा रही है और इसे कुछ हद तक संशोधित किया जा सकता है। इसलिए, विभिन्न कार्यक्रमों के तहत नए प्रस्तावों को प्रस्तुत करने की अनुमति केवल अनंतिम रूप से w.e.f. 01.01.2019 तक अगली सूचना तक। विचाराधीन प्रस्ताव भी समीक्षा प्रक्रिया के परिणाम के अधीन हैं।

 

महिला वैज्ञानिक योजना

महिलाएं जनबल एक महत्वपूर्ण भाग है, विशेष रूप से विज्ञान और प्रौद्योगिकी डोमेन में। हालांकि, बड़ी संख्या में सुशिक्षित महिलाएं विभिन्न परिस्थितियों के कारण जो आमतौर से लिंग विशेष से संबंधित होती हैं, एस एंड टी गतिविधियों को छोड़ देती हैं। वे अनेक चुनौतियों का सामना करती हैं लेकिन अधिकतर ‘‘ब्रेक इन करियर” मातृत्व और पारिवारिक जिम्मेदारियों के कारण आता है। ऐसे मुद्दों को हल करने के लिए, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (DST) ने 2002-03 के दौरान ‘‘महिला वैज्ञानिक योजना (WOS)” आरंभ की है। मूल रूप से इस पहल का उद्देश्य 27-57 वर्ष आयु वर्ग के बीच की महिला वैज्ञानिकों एवं प्रौद्योगिकीविदों को अवसर प्रदान करना है जिन्होंने अपने करियर से ब्रेक ले लिया था लेकिन वे मुख्यधारा में लौटना चाहती हैं।

विभाग ने इस उद्यम के जरिए, महिलाओं को वैज्ञानिक प्रोफेशन में एक मजबूत आधार देने, मुख्यधारा में पुनःप्रवेश करने में उनकी सहायता करने के संयुक्त प्रयास किए गए और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में पुनः सशक्त प्रयास करने के लिए लांच पैड प्रदान किया।

फैलोशिप की श्रेणी:

ठस योजना के अंतर्गत, महिला वैज्ञानिकों को विज्ञान एवं इंजीनियरिंग के अग्रणी क्षेत्रों में, सामाजिक महत्व की समस्याओं पर अनुसंधान जारी रखने और स्व-रोजगार के लिए एस एंड टी आधारित इंटर्नशिप लेने के लिए प्रोत्साहित किया गया। अनुसंधान छात्रवृत्ति के साथ, भारतीय नागरिकों के लिए फैलोशिप की निम्न तीन श्रेणियां उपलब्ध हैः

  1. महिला वैज्ञानिक योजना - A(WOS-A): मौलिक/अनुप्रयुक्त विज्ञान में अनुसंधान
  2. महिला वैज्ञानिक योजना B(WOS-B): सामाजिक लाभ के लिए एस एंड टी हस्तक्षेप
  3. महिला वैज्ञानिक योजना C(WOS-C): स्व-रोजगार के बौद्धिक संपदा अधिकार (IPRs) में इन्टर्नशिप

पात्रताः

योजना का उद्देश्य एस एंड टी डोमेन में महिलाओं को प्रोत्साहित करना है, मुख्यतः प्रोफेशन में पुनः प्रवेश की संभावनाएं ढूंढने के लिए जिन्होंने करियर में ब्रेक ले लिया और नियमित रोजगार नहीं है।

शिक्षाः

  1. कम से कम स्नातकोत्तर डिग्री, मौलिक या अनुप्रयुक्त विज्ञान में एम. एससी. के समतुल्य या बी. टेक. या एमबीबीएस या अन्य समतुल्य प्रोॅेशनल शैक्षिक योग्यता
  2. एम. फिल./एम. टेक/एम. फार्मा/एम. वीएससी या समतुल्य शैक्षिक योग्यता
  3. मौलिक या अनुप्रयुक्त विज्ञान में पी. एचडी.

आयुः

WOS-A और WOS-B में आवेदन करने के लिए निम्नतम आयु 27 वर्ष और अधिकतम आयु 57 वर्ष है। अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/ओबीसी और शारीरिक रूप से दिव्यांगे अभ्यर्थियों को पांच वर्ष की रियायत दी जाएगी। इस संबंध में सहायक दस्तावेजों की सत्यापित प्रतियां लगानी होंगी।

सहायताः

यह योजना एक सुव्याखित परियोजना प्रस्ताव (WOS-A और WOS-B के अंतर्गत) के लिए अधिकतम तीन वर्षों के लिए अनुसंधान वृत्ति प्रदान करेगी। यह वृत्ति आवेदनकर्ता की फैलोशिप, छोटे उपकरण की कीमत, आकस्मिक व्यय, यात्रा, उपभोज्य आदि को कवर करेगी। संस्थानगत ऊपरी शुल्क अतिरिक्त होगा।

कार्यक्रम

शिक्षा

प्रति माह फैलोशिप राशि (समेकित)

परियोजना का कुल मूल्य इससे अधिक नहीं

महिला वैज्ञानिक योजना - A(WOS-A) 

मौलिक या अनुप्रयुक्त विज्ञान में पीएच डी या समकक्ष डिग्री

रु 55,000/-

रु 30 लाख

 

महिला वैज्ञानिक योजना B(WOS-B) 

 

 

एम. फिल/एम. फार्मा/एम. वीएससी या समकक्ष डिग्री

रु 40,000/-

रु 25 लाख

 

मौलिक या अनुप्रयुक्त विज्ञान में एम. एससी/बी. टेक/एमबीबीएस या समकक्ष डिग्री

रु 30,000/-

रु 20 लाख

महिला वैज्ञानिक योजना

 

मौलिक या अनुप्रयुक्त विज्ञान में पीएच डी या समकक्ष डिग्री

रु 30,000/-

……………

 

एम. फिल/एम. टेक/एम. फार्मा/एम. वीएससी या समकक्ष डिग्री

रु 25,000/-

…………..

 

मौलिक या अनुप्रयुक्त विज्ञान में एम. एससी/बी. टेक/एमबीबीएस या समकक्ष डिग्री

रु 20,000/-

……………

महिला वैज्ञानिक योजना-A(WOS-A):

महिला वैज्ञानिक योजना A(WOS-A) महिला वैज्ञानिकों एवं प्रौद्योगिकीविदों विज्ञान और इंजीनियरिंग के अग्रणी क्षेत्रों में मौलिक या अनुप्रयुक्त विज्ञान में अनुसंधान जारी रखने के लिए एक प्लेटफार्म प्रदान करती है। यह योजना महिलाओं को मुख्यधारा में लाने में प्रमुख भूमिका निभाती है क्योंकि यह न केवल एस एंड टी तंत्र से ब्रेन ड्रेन को रोकती है बल्कि महिलाओं को तंत्र में प्रशिक्षित और बनाए रखती है। यह योजना मूल रूप से बेंच लेवल वैज्ञानिकों के रूप में काम करने के अवसर प्रदान करती है और अंततः विज्ञान और प्रौद्योगिकी में स्थायी पद के लिए नए विस्तार खोलती है।

वैज्ञानिक विषयः

WOS-A के अंतर्गत पांच विषयों में सहयोग उपलब्ध कराती है यथा, i) भौतिक एवं गणित विज्ञान (PMS), ii) रसायन विज्ञान (CS)] iii) जीव विज्ञान (LS)] iv) पृथ्वी एवं वायुमंडलीय विज्ञान (EAS)] और v) इंजीनियरिंग प्रौद्योगिकी (ET)  

आवेदन की अंतिम तिथिः

योजना पूरे वर्ष खुली रहती है। इसलिए, आवेदन की कोई अंतिम तिथि नहीं है।

आवेदन की क्रियाविधि WOS-A में परियोजना प्रस्ताव को केवल आॅनलाइन जमा करने की अनुमति है।

WOS-A प्रस्ताव को आॅनलाइन जमा करने के लिए क्लिक करें

स्वीकृत परियोजनाएं - 2015-16[PDF]0 bytes

स्वीकृत परियोजनाएं - 2016-17[PDF]0 bytes

मानव कोशिका संस्कृति प्रौद्योगिकी और कैंसर अनुसंधान में इसके अनुप्रयोगों ’पर महिला वैज्ञानिकों के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला[PDF]0 bytes

महिला वैज्ञानिक योजना – B (WOS-B):

महिला वैज्ञानिक योजना B (WOS-B)  सामाजिक लाभ के लिए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी (S&T) हस्तक्षेपों से संबंधित परियोजनाओं पर केंद्रित है। ऐसे परियोजना प्रस्तावों को किसी सु-अभिज्ञात सामाजिक चुनौती की ओर ध्यान दिलाना चाहिए साध्य प्रौद्योगिकी/तकनीक के विकास और/या लैब-टू-लैंड प्रौद्योगिकी स्थानांतरण, उसके अनुकूलन एवं प्रवर्धन के तरीके द्वारा संभावित हल बताने चाहिए। जो महिला वैज्ञानिक इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहती हैं, उन्हें विशेष रूप से आधारिक स्तर पर जीवन की गुणवत्ता बढ़ाने संबंधी मुद्दों को संबोधित करने के लिए वैज्ञानिक एवं प्रौद्योगिकीय हल के लिए अपनी परियोजना/प्रस्ताव विकसित करना जरूरी है। प्रस्ताव में प्रौद्योगिकी/तकनीक के विकास और/या अनुकूलन/विशेष रूप से निर्माण के लिए सुकल्पित प्लान स्पष्ट होना चाहिए जिसके जरिए सामाजिक लाभ प्राप्त करना है। अभ्यर्थी में उपयुक्त एस एंड टी क्षमता होनी चाहिए और प्रस्तावित परिणाम डिलीवर करने की तकनीकों में पारंगत होना चाहिए। उन परियोजनाओं को प्रोत्साहित किया जाता है जिनमें सतत आय जनन की संभावना है, श्रम में पर्याप्त कमी और आधारिक स्तर पर महिलाओं की क्षमता निर्माण करने के अतिरिक्त जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाने की संभावना होती है।

आवेदन की क्रियाविधि

अनुसंधान प्रस्ताव आॅनलाइन जमा करने के लिए डीएसटी ने e-PMS (onlinedst.gov.in)  आरंभ की है। प्रमुख जांचकर्ता को इस पोर्टल पर पंजीकरण करना होता है और फिर बताए गए फार्मेट में प्रस्ताव को अपलोड करना होता है। WOS-B प्रस्ताव फार्मेट KIRAN विभाग के अंतर्गत e-PMS पर और डीएसटी  वेबसाइट पर उपलब्ध है। जमा किए गए अनुसंधान प्रस्ताव की दो हार्डकाॅपीज स्पीड पोस्ट द्वारा डाॅ वंदना सिंह, वैज्ञानिक, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, प्रौद्योगिकी भवन, न्यू महरौली रोड, नई दिल्ली 110016 को भी भेजनी होंगी। लिफाफे पर ‘महिला वैज्ञानिक योजना - B (WOS-B)* लिखा होना चाहिए।

WOS-B (2018-19) के लिए 06.10.2018 से 16.11.2018 तक कॉल खुला
 
विज्ञापन WOS-B (2018-19) - Click here[PDF]0 bytes
 
आवेदन प्रारूप WOS-B (2018-19)- Click here[PDF]0 bytes

 

परियोजना प्रस्तावों का ऑनलाइन प्रस्तुतिकरण - Click here

 प्रश्नों के लिए ईमेल भेजें: wosb-dst[at]gov[dot]in

 

WOS-B कॉल (2018-19) के तहत प्रस्ताव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 16 नवंबर 2018 तक बढ़ा दी गई

 

WOS-B परियोजनाओं के कार्यान्वयन के लिए दिशानिर्देश [PDF]0 bytes

 स्वीकृत परियोजनाएँ - 2016-17[PDF]0 bytes 

 

महिला वैज्ञानिक योजना C(WOS-C):

महिला वैज्ञानिक योजना C (WOS-C) को पेटेंट फैसिलिटेटिंग सेंटर आॅफ टेक्नोलाॅजी इन्फाॅर्मेशन फोरकास्टिंग एंड एसेसमेंट काउंसिल (TIFAC) ने लागू किया है। योजना का उद्देश्य बौद्धिक संपदा अधिकार के क्षेत्र में विज्ञान/इंजीनियरिंग/चिकित्सा या संबद्ध क्षेत्रों में प्रशिक्षित महिलाओं को प्रशिक्षण देना और भारत में बौद्धिक संपदा (IPRs)  के सृजन, संरक्षण और प्रबंधन के लिए महिला वैज्ञानिकों का एक पूल तैयार करने के लिए एक वर्ष की अवधि के लिए उनका प्रबंधन करना है। IPRs के विभिन्न पक्षों (उदाहरण के लिए पेटेंट सर्च, नो-हाउ, ड्राफ्टिंग, फाइलिंग, ट्रेडमार्क, ट्रेड सीक्रेट, कापीराइट आदि) पर हैंड्स-आॅन प्रशिक्षण, विभिन्न नाॅलेज पार्टनर्स ( अर्थात लाॅ फम्र्स, नालेज प्रोसेसिंग आर्गेनाइजेशन्स (KPOs), कम्पनीज, सरकारी एजेंसियां, और अन्यद्ध के साथ पाठ्य क्रम का प्रमुख भाग है।

पात्रताः (1) स्थायी पदों वाली महिलाएं आवेदन की पात्र नहीं हैं  (2) आयुः 01.01.2018 को निम्नतम 27 वर्ष; अधिकतम 45 वर्ष (3) निम्नतम शैक्षिक योग्यता: विज्ञान में स्नातकोत्तर; इंजीनियरिंग/प्रौद्योगिकी में स्नातक या समकक्ष (4) वांछनीय योग्यताः कम्प्यूटरीकृत डाटाबेस, एकत्रण, मिलान, विश्लेषण और रिपोर्ट बनाने में अनुभवी।

WOS-C (KIRAN-IPR) के 11 वें बैच के लिए खुला कॉल: Click here for details[PDF]0 bytes

WOS-C: 20 मार्च 2019 के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि

WOS-C एप्लिकेशन के ऑनलाइन सबमिशन के लिए- यहां क्लिक करें

WOS-C के 10 वीं बैच के परिणाम

 

मोबिलिटी स्कीम

(महिला वैज्ञानिकों के पुनर्वास के मुद्दों को हल करना)

वर्ष 2014 में, विभाग ने महिला विशिष्ट सभी कार्यक्रमों की ‘‘किरन” (नालेज इन्वालवमेंट इन रिसर्च एडवान्समेंट थ्रू नर्चरिंगद्ध नामक एक कार्यक्रम के अंतर्गत पुनर्संरचना की। किरन महिला वैज्ञानिकों से संबंधित विभिन्न मुद्दों जैसे कि बेरोजगारी, पुनर्वास आदि) को हल करता है और इसका उद्देश्य अनुसंधान (WOS-A), प्रौद्योगिकी विकास/प्रदर्शन (WOS-B), और स्व-रोजगार (WOS-C) आदि में अवसर प्रदान करना है। किरन, क्यूरी (CURIE, कन्सोलिडेशन आॅफ यूनिवर्सिटी रिसर्च फाॅर इनोवेशन एंड एक्सीलेंस इन वीमेन यूनिवर्सिटीजद्ध के नाम से प्रतिभाशाली महिला विद्यार्थियों को एस एंड टी डोमेन में आकर्षित, प्रशिक्षित और बनाए रखने के लिए महिला विश्वविद्यालयों में आकर्षक अवयंरचना विकसित के लिए अग्रसक्रिय उपाय करने में भी सक्रिय रूप से लगी है।

 

इसी के साथ, एक अन्य ‘मोबिलिटी स्कीम’ नामक युगांतकारी कार्यक्रम किरन के अंतर्गत आरंभ किया गया है जो सरकार संगठनों में नियमित पदों पर कार्यरत महिला वैज्ञानिकों के पुनर्वास के मुद्दों को हल करेगा। मोबिलिटी स्कीम का उद्देश्य महिला वैज्ञानिकों को एक अवसर प्रदान करना है जो अपने जाॅब में पुर्नवास (शादी, पति के देश में ही किसी अन्य स्थान को स्थानांतरण, बीमार अभिभावकों की परिचर्या, और विभिन्न शहरों में पढ़ रहे बच्चों के साथ रहना) के कारण कठिनाइयों का सामना कर रही हैं और किसी नई जगह पर करियर विकल्प ढूंढने पर फिलर की तरह काम करेंगी। इस पहल का अभिप्राय प्रारंभिक अवस्थाओं में महिला वैज्ञानिक को मैत्रीपूर्ण वातावरण प्रदान करना है जहां वे पारिवारिक फ्रंट के दायित्व को पूरा करने के साथ अनुसंधान में भी सक्रिय रह सकेंगी। यह महिला वैज्ञानिकों को संविदात्मक अनुसंधान अवार्ड भी प्रदान करता है और उन्हें स्वतंत्र अनुसंधान में सक्षम बनाता है।

TEMM में महिलाओं के लिए इंडो-यूएस फैलोशिप

भारतीय महिला वैज्ञानिकों, इंजीनियरों और प्रौद्योगिकीविदों को यूएसए में प्रमुख संस्थानों में अंतरराष्ट्रीय सहयोगपूर्ण अनुसंधान करने के अवसर प्रदान करने, उनकी अनुसंधान क्षमताओं और योग्ताओं को बढ़ाने के लिए विभाग ने इंडो-यूएस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी फोरम (IUSSTF)  के साथ मिलकर ‘‘STEMM  (विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग, गणित, और चिकित्सा में महिलाओं के लिए इंडो.यूएस फैलोशिप) में महिलाओं के लिए इंडो-यूएस फैलोशिप’’  की घोषणा की है। 

विज्ञापन के लिएः  क्लिक करें [PDF]0 bytes

STEMM(WISTEMM) में महिलाओं के लिए इंडो-यूएस फैलोशिप में काॅल ओपेन:क्लिक करें

आॅनलाइन आवेदन जमा करने के लिएः क्लिक करें

आवेदन जमा करने की अंतिम तिथिः 28 फरवरी 2018 से 6 मार्च 2018 तक बढ़ायी गयी

परिणाम - STEMM (WISTEMM) में महिलाओं के लिए इंडो.यूएस फैलोशिप:क्लिक करें[PDF]0 bytes

योजना के तीनों संघटकों (WOS-A, WOS-B and WOS-C) को डीएसटी के निम्न खंडों द्वारा कार्यान्वित किया जाता है।

 
       
डॉ संजय मिश्रा 
प्रमुख,
विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग,
प्रौद्योगिकी भवन
नई दिल्ली - 110 016
फ़ोन: 011-26590285
ईमेल: sanjaykr[dot]mishra[at]nic[dot]in
श्रीमती नमिता गुप्ता
वैज्ञानिक एफ,
विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग,
प्रौद्योगिकी भवन
नई दिल्ली - 110 016
फ़ोन: 011-26590371
ईमेल: namita[at]nic[dot]in
डॉ वंदना सिंह
वैज्ञानिक ई,
विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग,
प्रौद्योगिकी भवन
नई दिल्ली - 110 016
फ़ोन: 011-26590675
ईमेल:: vandana[dot]singh[at]nic[dot]in
श्री पवन कुमार
वैज्ञानिक सी,
विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग,
प्रौद्योगिकी भवन
नई दिल्ली - 110 016
फ़ोन: 011-26590290
ईमेल: pawan[dot]kumar[at]nic[dot]in